Friday, 7 June 2019

समाज जागरूक हो

  अपराध  छोटा   हो  या   बड़ा    उस  पर  नियंत्रण  व  अपराधी  को  सजा  जरुरी  है  l  लेकिन  जब  अपराधी  संगठित  हो   कर  एक  मजबूत  श्रंखला  बना  लेते  हैं   तो  सबसे  बड़ी  समस्या  यह  होती  है  कि  सजा  कौन  दे  ?   हर  व्यक्ति  अपने  स्वार्थ ,  कामना , वासना  और  विभिन्न  कमजोरियों  के  आगे  विवश  होता  है  ,  अपनी - अपनी  दुकान  चलती  रहे   इस  कारण  हर  अपराधी   दूसरे   को  संरक्षण  देता  है   l
 सब  समस्याओं  का  एकमात्र  हल है --- संवेदना  l   कहने  को  आधुनिक  युग  है  ,  लेकिन  चेतना  के  स्तर  पर    क्या  है  ?   स्वयं  का  आंकलन  प्रत्येक  व्यक्ति    करे  l  अपनी  कमजोरियों  को  समझें    और  उसे  दूर  करें  ,  तभी  समाज  में  शांति  संभव  है   l 











No comments:

Post a comment