Monday, 20 February 2017

अपनी समस्याओं का हल हमें स्वयं ढूंढना है

बड़ी - बड़ी  समस्याएं  जीवन  में  कम  ही  आती  हैं  ,  अधिकांश  छोटी - छोटी  समस्याएं  होती  हैं  जो  तनाव  उत्पन्न  करती  हैं   जिससे  छोटी  समस्या  ही  बड़ा  विकराल  रूप  ले  लेती  हैं   l
समाज  में  अनेक  लोग  ऐसे  होते  हैं  जिनमे   ईर्ष्या - द्वेष  होता  है ,  जिनका  मन  अशांत  होता  है  ,  ऐसे  लोग  अपनी  गतिविधियों  से  हमेशा  ही    अन्य  लोगों  को  परेशान  करते  हैं  ।  हम  दूसरों  को  नहीं  बदल  सकते   ।  हमें  स्वयं  विवेक  से  काम  लेना  होगा   ।   ईश्वर  विश्वास ,  प्रार्थना ,  निष्काम  कर्म  -- इन  सबसे  मन  निर्मल  होता  है    और  समस्याओं  से  कैसे  निपटा  जाये  इसकी  अन्त:प्रेरणा  प्राप्त  होती  है   ।
  लड़ाई - झगड़ा,  वाद - विवाद   से  समस्या  और  उलझती  जाती  है   ।  विवेकपूर्ण  हल  खोजें  । 

No comments:

Post a comment