Wednesday, 14 March 2018

जागरूकता की कमी अनेक समस्याओं का कारण है

जीवन में  अधिकांश  समस्याएं  इसलिए  उत्पन्न  होती  हैं  क्योंकि  हम  जागरूक  नहीं  है  l  केवल  प्रश्न - उत्तर   रट  लेने  से , परीक्षा  पास  कर  लेने  से  जागरूकता  नहीं  आती  l  श्रेष्ठ  साहित्य  का  अध्ययन  करना , महापुरुषों  के  प्रेरक - प्रसंग  पढना , शिक्षाप्रद  कहानियां  पढना अर्थात  स्वाध्याय  से  समझ  विकसित  होती  है  l  इस  समझ  की  कमी  की  वजह  से  ही  आज  का  युवा  वर्ग  परेशान  है  l 
 शोषण  व  अत्याचार  करने  वाले   इतने  चालाक,  इतने  होशियार  होते  हैं  कि  एक  सामान्य  बुद्धि  का  व्यक्ति  समझ  ही  नहीं  पाता  कि  उसका  शोषण  हो  रहा  है ,  उसका  हक़  छीना  जा  रहा  है  l
    आज  की  समस्याएं  ताकत  से  नहीं ,  बुद्धि  और  विवेक  से  सुलझ  सकती  हैं  l एक  ओर    युवा  वर्ग  यदि  रोजगार  के  लिए  परेशान  है  तो  दूसरी  ओर  अनेक  ऐसी  संस्थाएं  हैं  जो  रिटायर  हुए  लोगों  को  जो 67-68 वर्ष  से  भी  अधिक  आयु  के  हैं ,  उन्हें  रोजगार  देती  हैं  l  उन्हें  दो तरफ़ा लाभ  हो जाता  है -- पेंशन  भी  और  वेतन  भी  लेकिन  युवा  वर्ग  जागरूकता  और  सही  दिशा  के  अभाव  में  बेरोजगार  रह  जाता  है  l  युवाओं  को  -- चाहे  वे  युवक  हों  या  युवतियां -- अपने  सपनो  की  दुनिया  से  बाहर  आना  होगा l  जागरूक  होना  होगा   l  ज्ञान  और  समझदारी  से  ही  समस्याएं  हल  होती  हैं  l  

No comments:

Post a comment