Thursday, 29 March 2018

अति महत्वाकांक्षा अनेक समस्याओं का कारण है

     आज  की  सबसे  बड़ी  समस्या  यह  है  कि   जो  धन -संपन्न  हैं , उच्च  पदों  पर  हैं  उन्होंने  इस  स्थिति  को  अपनी  बपौती  समझ  लिया  है  l  अपनी  सन्तान  को   चाहे  वह  अयोग्य  हो  , उसे  वे   ऊँचे  पद  पर ---डाक्टर , इंजीनियर, उच्च  अधिकारी  देखना  चाहते  हैं  l  ऐसी  सन्तान  जो   अयोग्य  है  और  परिश्रम  भी  नहीं  करना  चाहती ,  उसके  लिए   अनेक  धनाढ्य  माता - पिता   दस - बीस  लाख और  उससे  भी  ज्यादा  धन  खर्च  कर  के  , उसे  विभिन्न  परीक्षाओं  में  पास  कराना  चाहते  हैं  और   इस  कार्य  में  सक्रिय  विभिन्न  गैंग  से  मिलकर  ऐसे  घोटालों   को  अंजाम  देते  हैं   l
  कुछ  लोगों  की  गलतियों   का  दुष्परिणाम    अनेक   योग्य  और  परिश्रमी  छात्र - छात्राओं  को  भुगतना  पड़ता  है  ,  ठीक  उसी  तरह  जैसे  बाढ़ , तूफान  अच्छा - बुरा  नहीं  देखता  सबको  बहा  ले  जाता  है  l 
  जब  माता - पिता    ईमानदार  और  कर्तव्यनिष्ठ  होंगे  तभी  वे   नई  पीढ़ी  को  संवार  सकेंगे  अन्यथा  प्रकृति  न्याय  करेगी  l 

No comments:

Post a comment