Thursday, 18 August 2016

मन की शान्ति के लिए सकारात्मक सोच जरुरी है

   अधिकांश  व्यक्ति  थोड़ी  सी  भी   कठिनाई   आने  पर  परेशान,  निराश  हो  जाते  हैं  ,  जिसका  असर  उनके  स्वास्थ्य  पर  और  पारिवारिक  जीवन  पर  पड़ता  है  ।  हम  समस्याओं  के  प्रति  अपनी  सोच  सकारात्मक  रखें  तो  यह  समस्या  हल  हो  जायेगी    जैसे ---- शरीर  में  कोई  बीमारी  है ,  तकलीफ  है  तो  हम  बीमारी   का  दुःख  न  मनाये ,  यह  सोचें  कि  इस  बीमारी  के  बहाने  ईश्वर  हमें   अपने  स्वास्थ्य  के  प्रति  जागरूक  करना  चाहते  हैं  कि------  हम  अपनी  दिनचर्या   नियमित  करें,  श्रेष्ठ  चिंतन  करें  ,  अपने  आप  से  प्यार  करें  ,  गलत  आदतों  को  छोड़  दें  ।  ऐसी  जागरूकता  से  शरीर  स्वस्थ  रहेगा  ।
      इसी  तरह  व्यवसाय  में  हानि  हो ,  कोई  बड़ा  आर्थिक  नुकसान  हो  जाये   तो  कभी  निराश  न  हों  ।  जो  खोया  वो  न  देखें  ,  जो  बचा  है  उसके  लिए  खुश  हों    l   यह  समझे  कि  प्रकृति  हमें  सिखाना  चाहती  है  कि  हम  किफायत  से  चलें ,  मितव्ययी  बने  ,  बचत  करें   ताकि  ऐसा  संकट  आने  पर  भी  पारिवारिक  बजट   फेल  न  हो  ।   जिंदगी  की  गाड़ी   सरलता  से  चलती  रहे  । 

No comments:

Post a comment