Friday, 14 October 2016

शान्ति चाहिए तो किसी से कोई उम्मीद न रखें

  सारा  कष्ट  उम्मीद  रखने  से  होता  है  ।  हम  किसी  से  कोई  उम्मीद  न  रखें ,  फिर  कोई  हमारे  लिए  थोड़ा  भी  कुछ  करेगा  तो  उससे  बहुत  ख़ुशी  मिलेगी  ।
लोगों  की  आदत  होती  है  सपने  संजोने  की  ,  जब  वे  पूरे  नहीं  होते  तो  बहुत  दुःख  होता  है  ।  इसलिए  जरुरी  है  की  सपने  संजोये  ही  नहीं   ।    ईश्वर   ने  जो  दिया  वह  --- अच्छा,  और  जो  नहीं    दिया  ---- तो  और  अच्छा     ।      ईश्वर   की  सत्ता  में  विश्वास  रखें ,  अपना  कर्तव्य  पालन  ईमानदारी  से  करें   और  निष्काम  कर्म  करें  तो  किसी  से  कोई  उम्मीद  रखने  की  जरुरत  ही  नहीं  रहेगी   । 

No comments:

Post a comment