Monday, 24 April 2017

लोग केवल अपने बारे में सोचते हैं

  संसार  में  अशांति  का  एक  बहुत  बड़ा  कारण    है    कि  लोग  केवल   अपने  बारे  में  सोचते,   हैं  |  l   अब  लोगों  पर  स्वार्थ  हावी  हो  गया    है ,  जिससे  उन्हें  कोई  फायदा  हो  उसी     से  वे  मिलेंगे   |  मित्रता  भी     नि:स्वार्थ  भाव  से  नहीं  है  ,  इसलिए  आज  का  व्यक्ति  भीड़  में    भी  अकेला  है   l   इसलिए  आज  के  समय  में  ईश्वर  विश्वास  बहुत  जरुरी  है   l     इसी  विश्वास  के  सहारे  हम  कर्मयोगी  बनकर     अपने  जीवन  की  कठिनाईयों  का  सफलता  पूर्वक  सामना  कर  सकते  हैं   l 

No comments:

Post a comment