Friday, 23 June 2017

सुख - साधनों ने व्यक्ति को आलसी बना दिया

   विकास  के  लिए  वैज्ञानिक  आविष्कार  जरुरी  हैं   लेकिन  इन  आविष्कारों  में  जो   शरीर  को  आराम  देने  वाले  हैं  उनके  अधिक  उपयोग  से  मनुष्य  आलसी  हो  गया  है  l  शारीरिक  श्रम  न  करने  से  अनेक  बीमारियाँ  घेरती  हैं  l  घर  हो ,  ऑफिस हो  या  कोई  कम्पनी  हो   , तकनीकी  सुविधाओं  से  जब  लोग  अपना  काम  जल्दी  कर  के  फालतू  हो  जाते  हैं   तो  उनका  समय  व्यर्थ  की  बातों  में ,  नकारात्मक  कार्यों  में  बीतता  है  l कहा  भी  जाता  है --' खाली  मन  शैतान  का  घर  l '    इसलिए  लोगों  को  स्वयं  जागरूक  होना  पड़ेगा  कि  वे  अपने  फालतू  समय   में   व्यर्थ  की   बातों  में  अपनी  ऊर्जा  न  गंवाकर  ,  कुछ  समय  मौन  रहकर  श्रेष्ठ  चिंतन  करें  l  कोई  सकारात्मक  कार्य  करें ,  सत्साहित्य  पढ़ने  की  व्यवस्था  हो  l  ऐसा  होने  से  लोगों  का  मन  शांत  रहेगा ,  इससे  धीरे - धीरे  परिवार  और  समाज  में  भी  शांति  रहेगी  

No comments:

Post a comment