Thursday, 14 January 2016

छोटी - छोटी बातों पर परेशान न हों

 यदि  घर - परिवार  में  शान्ति  न  हो  तो  व्यक्ति   अपने  ऑफिस में ,  सामाजिक  जीवन  में  भी   अशान्त  रहेगा    ।  उसकी  यह  अशान्ति ,  कुंठा  समाज  में  विभिन्न  रूपों  में    दिखाई   देगी   ।  ऐसे  अशांत  मन  वाले  जब  बहुत  से  लोग  एक  साथ  हो  जाते  हैं  तो  वे  समाज  में  अशान्ति  उत्पन्न  करते  हैं  ।
  इसलिए  सबसे  ज्यादा  जरुरी  है  कि  पारिवारिक  जीवन  तनाव  रहित  हो  ।  परिवार  में  शान्ति  के  लिए  यह  बहुत  जरुरी  है  कि   परिवार  के  प्रति  अपने  कर्तव्य  का  पालन  करें ,    लेकिन  उसके  बदले  किसी  से  कोई  उम्मीद  न  करें   ।     छोटी - छोटी  बातों   पर  परेशान   होकर  उन्हें  बड़ा  न  बनायें ।
   यदि  पारिवारिक  जीवन  में  पंद्रह  दिन  शान्ति  रहती  है  और  एक  दिन  कलह  होती  है    तो  उन  पंद्रह  दिनों  की  शान्ति  के  लिए  एक  दिन  की  कलह  को  सहन  करें ,  उसे  तूल  देकर  बढ़ाएं  नहीं   ।
परिवार  में  अपने  मन  को  शांत  रखने  के  लिए    एक - दूसरे  की  अच्छाइयों  को  देखें   ।  जब  झगड़ा  होता  है  तब   बुराइयों  को  न  देखें ,  उसके  गुणों  को   और   परिवार  में  उसका  क्या  योगदान  है  इस  पर  ध्यान  दें  तभी  शान्ति  रहेगी   । 

No comments:

Post a Comment