Tuesday, 24 January 2017

सद्बुद्धि के प्रकाश की जरुरत है

  वर्तमान  समय  में   लोग  अपने  जीवन  में  मिली  खुशियों  का  आनन्द  नहीं  मनाते  बल्कि  अपना  अधिकांश  समय  दूसरों  के  विरुद्ध  षड्यंत्र  रचने  में  कि  किस  तरह  दूसरों  को  उत्पीड़ित  किया  जाये ,  अपनी  प्रभुता  कायम  की  जाये ,  ऐसी  ही  बातों  में  बिता  देते  हैं   ।   इस  तरह  के  लोग  संगठित  रहकर  ही  अपनी  योजनाओं  को  अंजाम  देते  हैं  ।
 ऐसी  ही  समस्याओं  से  निपटने  के  लिए  विवेक  की  जरुरत  है  ।  ऐसे  लोगों  से  विवाद  करना ,  बहस  करना  उचित  नहीं  होता  ।  ये  लोग  संगठित  होते  हैं  इसलिए  बड़ा  नुकसान  पहुंचा  सकते  हैं  ।  आज  के  समय  में  सतत  जागरूक  रहने  की  जरुरत  है   ।   यदि  हमारे  जीवन  की  दिशा  सही  है ,  हम  स्वयं  किसी  का  अहित  नहीं  करते   तो  इन  कांटो  के  बीच  भी  राह  निकल  आती  है  । 

No comments:

Post a comment