Thursday, 21 June 2018

प्रत्येक व्यक्ति यह देखे और चिंतन करे कि वह नई पीढ़ी को क्या सिखा रहा है

 बच्चे  की प्रथम  पाठशाला  उसका  परिवार  है  l   यदि  इस  बात  पर  ध्यान  दें  तो  देखेंगे  कि  परिवार  के  सदस्य   परस्पर  और  मित्रों  से  बच्चे  के  सामने  जिस  भाषा  का ,  जिन  अच्छे - बुरे  शब्दों  का  इस्तेमाल  करते  हैं  ,  बच्चा  जब  बोलने  लगता  है  तब  वह  भी  उन्ही  शब्दों  का  इस्तेमाल  करता  है  l  परिवार  के  लड़ाई - झगडे ,  आपस  में  एक   दूसरे   का  अपमान ,  तिरस्कार ,  उपेक्षा ,  किसी  को  अपने  से  हीन  समझना   ,  झूठ  बोलना  आदि  अनेक  दुर्गुण  बच्चा  अपनी  घुट्टी  के  साथ  बिना  सिखाये  ही  सीख  जाता  है   और  बड़े  होकर  वह  परिवार  और  समाज  में  वैसा  ही  व्यवहार  करता  है  l  
    आचरण  से  ही  शिक्षा  दी  जा  सकती  है   l     भाषण ,  उपदेश ,  मार ,  भय  ,  दंड  आदि  से  आप  किसी  को  अच्छा   नहीं  बना  सकते  l  

No comments:

Post a comment