Saturday, 23 June 2018

समाज में अशांति और अनैतिकता बढ़ने का कारण है कि अब लोगों ने व्यक्ति के पहनावे से उसके चरित्र का आंकलन शुरू कर दिया

       समाज  में  जब  भी  अपराध , अनैतिकता  बढ़ती  है   तो  उसके  पीछे  एक  बड़ा  कारण  यह  है  कि  समाज  ही  जागरूक  नहीं  है   l  जो  समाज  व्यक्ति  के   पहनावे  को  देखकर ,  उसके  वस्त्रो  को ,  ड्रेस  को   देखकर ,   व्यवसाय  या  पद  को  देखकर     व्यक्ति   को  अच्छा  कहे ,  उस  पर  विश्वास  करे   तो  यह  जागरूकता  नहीं  है    l
   वातावरण ,  समय  का  प्रभाव  आदि  अनेक  वजह  से  व्यक्ति  में   अनेक  बुराइयाँ  आ  जाती  हैं    लेकिन  कामवासना   का  सम्बन्ध  व्यक्ति  के  मन  से  है  ,  यह  विकार  व्यक्ति  के  मन  में  पैदा  होता  है  l  यह  कहना  कि  अमुक  वस्त्र  पहनकर  ,  किसी  अच्छे  पद , व्यवसाय  में  होने  से  व्यक्ति  ने  इस  विकार  पर  विजय   प्राप्त  कर  ली  है ,  यह  गलत  है  l   धन - वैभव ,  शक्ति ,  दंड  का  भय  न  होना  ये  सब  बातें  व्यक्ति  की  उन्मतता   को  और   भड़काती    हैं  l 
अपनी  संस्कृति  को  बचाना  है ,  गरिमामय  जीवन  जीना  है   तो  व्यक्ति  हो , परिवार  हो  या  संस्था  हो  सबको  जागरूक  होना  होगा   l  

No comments:

Post a comment