Wednesday, 2 August 2017

अति स्वार्थ के कारण व्यक्ति नीचे गिरता चला जाता है

   मनुष्य  पर  स्वार्थ  हावी  हो  जाता  है ,  कहते  हैं  मनुष्य    स्वार्थ  में  अन्धा  हो  जाता  है  l  ऐसा  व्यक्ति  किसी  भी  स्तर  तक  नीचे  गिर  सकता  है  l   जिन्दगी  में  जब  ऐसे  व्यक्तियों  से  सामना  हो   तब  हमें  अपना  आत्मविश्वास    बनाये  रखना  चाहिए  l    लोग  क्या  कहते  हैं , समाज  क्या  कहता  है  ?  यह  सब  सोचकर  अपने  मन  को  नहीं  गिरने  देना  हैअ  सही  है    l  यदि  हमारे  जीवन  की   दिशा  सही  है   तो  रास्ते  की  सभी  बाधाएं  हट  जाएँगी ,        '  जीत  हमेशा  सत्य  की  होती  है  l '

No comments:

Post a comment