Thursday, 26 May 2016

संसार में सबसे कठिन कार्य है ---- किसी को खुशी देना

    संसार  में  प्रत्येक  व्यक्ति  खुशी  से  जीना  चाहता  है  लेकिन   स्वार्थ  इतना  हावी  है  कि  व्यक्ति  अपनी  खुशी  को  पाने  के  लिए  दूसरों  की  खुशी  को  छीनता  है  ।  परिवारों  में  माता - पिता   अपनी  इच्छा  को  बच्चों  पर  थोपना  चाहते  हैं  । यदि  पिता  डॉक्टर  है  तो  वह  चाहेगा  कि  उसका  बेटा   भी  डॉक्टर  बने  ,  वह  बेटे  की   रूचि   का  कोई  ध्यान  नहीं  रखेगा      l   परिवार  हो  या  समाज   लोग  अपनी  ख़ुशी  को  महत्व   देते  हैं  इसमें   दूसरे  की  ख़ुशी  है  या  नहीं   इससे  उन्हें  कोई  मतलब  नहीं  होता  ।
         खुशियों  को  आप  जितना  फैलायेंगे  उतनी  ही  ख़ुशी  बढ़ेगी  ।  लेकिन  यदि  कोई   किसी  की  ख़ुशी  छीनेगें  तो    प्रतिक्रिया  स्वरूप   उसकी  ख़ुशी  भी   कहीं  न  कहीं  छिनेगी  ।
  सबकी  ख़ुशी  में  ही  अपनी  ख़ुशी  है   ।  

No comments:

Post a comment