Tuesday, 19 September 2017

संस्कृति की रक्षा जरुरी है

  भारतीय  संस्कृति    को  मिटाने  के   अनेकों  प्रयास  हुए   लेकिन   ' कुछ  बात  है  कि  हस्ती  मिटती  नहीं  हमारी   l '  
   आज  हम  सबको  जागरूक  होने    की  जरुरत  है   l    कहीं  दंगा  हो ,  बम विस्फोट  हो  ,  दहशत   की     वजह  से  जानमाल  की   हानि  हो   तो  उस  क्षेत्र  विशेष  के  लोग  उस  घटना  को  भूल  नहीं   पाते  l    डर  उनके  ह्रदय  में  समां  जाता  है  ,  सामान्य   स्थिति  में  आने  में  बहुत  समय  लग  जाता  है   l
  हम  बच्चों  के  कोमल  मन    की   कल्पना  कर  सकते  हैं  ,  स्कूलों  में  बच्चों  को  टार्चर  किया  जाये ,  किसी  बच्चे  का  मर्डर  हो  जाये ,  अज्ञात  कारण  से  किसी  बच्चे    की    स्कूल  में  मृत्यु  हो  जाये   तो  ऐसी  घटनाओं  का   सीधा   प्रभाव    बच्चों  के  आत्मविश्वास  पर  पड़ता है  ,  वे  भयभीत  रहने  लगते  हैं  ,  उनका  सही  मानसिक  विकास  नहीं  हो  पाता ,  आत्मविश्वास  डगमगाने  लगता  है   l  ऐसी  घटनाएँ   बच्चों  के  सम्पूर्ण  व्यक्तित्व  को  प्रभावित  करती  है    l
  एक  देश  का  वैभव  उसका  कुशल और  आत्मविश्वास  से  भरपूर  मानवीय  संसाधन  है   l   आज  के  बच्चे  ही  ,  कल  देश  की  कार्यशील   जनसँख्या   हैं  ,  देश  का  भविष्य  हैं   l  ऐसे  आतंकियों  से  उनकी  रक्षा  करना ,  उन्हें  संरक्षण  देना   अनिवार्य  है  l 

No comments:

Post a comment