Friday, 29 September 2017

कर्तव्यपालन में ईमानदारी न होना

     समाज  में    असमानता  है 


  समाज  में  अनेक  समस्याएं  हैं  ,  उनके  मूल  में  एक  ही  कारण  है  कि   जो  व्यक्ति  जहाँ  लगा  है  वह  ईमानदारी  से काम  नहीं  कर  रहा   l   लोग  गरीबों  से , मेहनत - मजदूरी  करने  वालों  से  और  बहुत  कम  वेतन  पाने  वालों  से  ईमानदारी    की   उम्मीद  करते  हैं  ,  थोड़ा  भी  काम  गलत  होने  पर  उनसे  दुर्व्यवहार  करते  हैं   l  लेकिन  ये  वर्ग  भी  क्या  करे  ?  जब  देखते  हैं  कि  एक  से  एक  अमीर   और  समर्थ  लोग  अपनी  जेब  भरने  में  लगे  हैं  ,  ईमानदारी  है  ही  नहीं ,  तो  ये  लोग  भी   अपने  काम  में  लापरवाह  रहते  हैं  ,    इस  सत्य  को  स्वीकार  करना  होगा  कि  हम  सब  एक  माला  के  मोती  हैं  ,     एक  मोती  भी  खराब  होगा  तो  माला  तो  माला  सही  नहीं  रहेगी  l
























No comments:

Post a comment