Thursday, 1 January 2015

उठो ! जागो ! खुशियाँ आपका इंतजार कर रहीं हैं

खुशियाँ   आपके   चारों  ओर  बिखरी  हुई  हैं,  आपको  ही  उठकर  उनसे  जुड़ना  है   । नकारात्मकता  को  भगाने  का  एक  और  नुस्खा---- आप   फुर्सत  के  क्षणों  में  छोटे-छोटे  बच्चों  से  बातें  कीजिये,  उनके  साथ  उनकी  कविताएँ  गा  कर,  उन्हें  नई  कविता  सिखाकर  उनके  साथ  घुल-मिल  जाइये  । गरीब  बच्चों  को  लिखना-पढ़ना,  जोड़,  घटाना,  गिनती,  पहाड़े  सिखाइए  ।  नये  वर्ष  में  ऐसा  करके  देखिये,   इससे  आपको  जो     प्राप्त   होगा  वह  अमूल्य  है---- 1. बच्चों  का मन  पवित्र  और  निश्छल  होता  है ,  उनके  साथ   रहने  से  आपको  सकारात्मक  उर्जा  मिलेगी  जों  आपकी  नकारात्मकता  कों  दूर  भगा  देगी  ।
2. बच्चों   को  जब  आप  कविता,  जोड़ना,  घटना  आदि  कुछ  सिखायेंगे  तो   इस  निष्काम  कर्म  से   ईश्वर  प्रसन्न  होंगे,  उनकी  कृपा  मिलने  से  आपकी  समस्याएं  स्वत:  हल  होने  लगेगीं  ।
3.बच्चों  में  बच्चे  बनकर  खेलने  से  जो  आनंद  मिलता  है  वह  आपके  चेहरे  कि  झुर्रियों  को  मिटा  देगा,  किसी  क्रीम  की  जरुरत  नहीं  पड़ेगी  । 

No comments:

Post a Comment