Sunday, 13 September 2015

धन का महत्व है लेकिन सुख-शान्ति और प्रेम पाने के लिए प्रयास अलग से करना पड़ता है

सुख  ,  शांति  और  प्रेम  अनमोल  होता  है  जो  धन  के  बदले  मे   नहीं  मिलता  यदि  आप   ये   अनमोल  रत्न   पाना  चाहते  हैं  तो  दूसरों  का  ह्रदय  जीतने  की  कला  आनी  चाहिए   ।
   सदभावना  से,   सत्कर्म   से  और  दूसरों  के  कष्ट  निवारण  में  नि:स्वार्थ  भाव  से  मदद  कर  आप  सम्मान  पा  सकते  हैं  ।
  जब  दीन-दुःखियों  को,  समाज  के  उपेक्षित  वर्गों  को  आपसे  सहयोग  मिलेगा,  आगे  बढ़ने  का,  जीवन  स्तर  में  सुधार  का मौका  मिलेगा  तो  उनके  ह्रदय  से  निकली  दुआएं  आपके  जीवन  को  खुशियों  से  भर  देंगी   । 

No comments:

Post a comment