Tuesday, 24 July 2018

सकारात्मक शिक्षा और रोजगार से ही अपराधों पर रोकथाम संभव है

   सही  शिक्षा  न  होने  से  विवेक  नहीं   जागता   और  बेरोजगारी   परिवार  के  पोषण  और  भूख  की  समस्या  उत्पन्न  करती  है   l  दुष्ट  शक्तियां  तो   हमेशा  इसी  फिराक  में  रहती  हैं  कि  किसकी  कमजोरी  का  फायदा  उठाया  जाये  और  अपना  संगठन  बढ़ाया  जाये   l    विवेकहीन  व्यक्ति    भेड़चाल  चलता  है  ,  उसे  यह  ज्ञान  भी  नहीं  होता  कि  उसे  हांकने  वाला  कौन  है   l  बस  ! पैसा मिल  जाये ,  हर  तरह  के  कार्य  करने  की  छूट  मिल  जाये  तो   वह  मानसिक  गुलाम  हो  जाता  है  ,  इशारे  पर  काम  करता  है   l    

No comments:

Post a Comment