Wednesday, 2 November 2016

अशान्ति का कारण जागरूकता की कमी

   आज  के  समय  में  स्वार्थ  इस  कदर  हावी  है  कि  व्यक्ति  अपने  सुख  के  अतिरिक्त  अन्य  किसी  के  बारे  में  कुछ  सोच  ही  नहीं  सकता   l  लोगों  को  किसी  से  सहानुभूति ,  संवेदना  नहीं  रही  ।   कहीं  कोई  घटना - दुर्घटना  होती  है  तो  लोग  तमाशा  देखते  हैं  कोई  मदद  नहीं  करता    l  किसी  के  साथ  कोई  घटना - दुर्घटना  होती  है   तमाशा  देखने  वाले  लोग  ज्यादा  होते  हैं   ।   सहानुभूति व  संवेदना    की  कमी  ही  अशांति  का  कारण   है  ।   लोग  तब  तक  जागरूक नहीं  होते  जब  तक  मुसीबत  उनके  सिर  पर  न  आ जाये  ।   बाढ़  आने  से  पहले  ही  सुरक्षा  का  इंतजाम  करना  चाहिए  वर्ना  उस  में  सब  कुछ  बह  जाता  है  । 

No comments:

Post a comment